Schlagwörter

,

Anmeldungen für Sensenkurseहँसिया से कटाई करना एक कौशलपूण कला है।  यह पीढ़ी दर पीढ़ी विकसित कर आगे सौंपा गया है। यह कौशल तभी जीवित रहेगा जब युवा एवं वृदध, पुरुष व महिला – इसे सीखें और इसका पृयोग करें।
जो इस कला को सीखना चाहे, http://www.schnitter.in उहें यह सिखाता है। हमारे Blog के चिञ, शबदों की अपेळा, हँसिया से कटाई को अधिक अचछी तरह से दिखाते हैं।
यदि आप हमसे सम्पर्क करना चाहें तो नीचे अपनी टिपपणी करें।
Video of a scythe project in India, March 2016.

Mähen in der Gruppe